खोल से बाहर निकलती और पाजामे के बाहर टपकती आदमियत की पोल खोल वेब सीरीज - PICTURE PLUS Film Magazine पिक्चर प्लस फिल्म पत्रिका

नवीनतम

रविवार, 15 जुलाई 2018

खोल से बाहर निकलती और पाजामे के बाहर टपकती आदमियत की पोल खोल वेब सीरीज


आखिर क्यों वायरल हो रहा है सेक्रेड गेम्स’?

नवाजुद्दीन सिद्दीकी और सैफ अली खान 

*भुवन शर्मा
धर्मों का रूप यही है...राहगीर को प्रेम से घर बुलाओ...आदर सहित भोजन ग्रहण कराओ...फिर उसकी आत्मा पर कब्जा कर लो
हिंदुस्तान जब हिंदुस्तान नहीं बना था तब से ही पॉलिटिक्स की मछली को धर्म के तेल में फ्राई करते आए हैं
आदमी अंदर से कितना ही काला हो दुनिया के सामने उतना ही सफेद दिखने की कोशिश करता है
अगर मर्द फील्ड पर काम करना चाहे तो पैशन और अगर औरत करना चाहे तो भूत?’
कुछ ऐसे ही डायलॉग्स के साथ अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवानी लेकर आए हैं एक ऐसी वेब सीरीज जिसमें सस्पेंस और थ्रिल से भले प्लॉट हैं। मंझे हुए एक्टर्स और ऊपर से निर्देशन का तड़का तो है ही, साथ ही सेक्स, न्यूडिटी और गालियों से भरे संवाद है। सेक्रेड गेम्स जाहिर तौर पर वो वेब सीरीज तो नहीं जिसे सोफे पर आराम से बैठकर और फास्ट फॉर्वर्ड करके देखा जाए। पहले सीजन के आठ एपिसोड वाला स्क्रीनप्ले बेहद पेचीदा है लेकिन शुरुआती एपिसोड्स में यह शो बोर नहीं करता। इसे देखने के लिए आपको किसी चीज की जरूरत है तो वो है सब्र।
अब आते हैं कहानी पर दरअसल कहानी का प्लॉट कुछ यू हैं कि इस कहानी के तीन मुख्य पात्र हैं-पहला है सरताज सिंह यानि सैफ अली खान जो मुंबई पुलिस में कार्यरत एक सिख पुलिसकर्मी है जिसके दिवंगत पिता भी पुलिसवाले ही थे। सरताज को इस बात की खलिश है कि उसने अभी तक कोई बड़ा केस सॉल्व नहीं किया। लेकिन तभी उसे मिलती है मुंबई में होने वाले हमलों की बड़ी लीड।
कहानी में दूसरा किरदार है गणेश एकनाथ गायतोंडे जिसे निभाया है नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने, जिस पर 150 लोगों के कत्ल का आरोप है और वो पिछले 17 सालों से फरार है। पूरी कहानी का नरेटर ही गायतोंडे है, उसी ने सरताज को धमाकों की धमकी की लीड दी है।

राधिका आप्टे
वहीं, तीसरा किरदार है अंजलि माथुर यानि राधिका आप्टे का जो एक रॉ एजेंट है और फील्ड पर काम करना चाहती हैं लेकिन माथुर के किरदार का सामना समाज की उस सोच से भी होता है जो एक महिला को बताता है कि महिलाएं डेस्क वर्क के लिए होती हैं फील्ड वर्क के लिए नहीं। स्टार्स के अलावा इस सीरीज़ में कुछ ऐसे किरदार भी हैं जिनका अभिनय प्रभावित करता है उनमें नीरज काबी, पंकज त्रिपाठी, समीर कोचर समेत कई एक्टर्स शामिल हैं। स्क्रिप्ट और संवाद वरुण ग्रोवर, स्मिता सिंह और वसंत नाथ ने मिलकर लिखे हैं जो आपको पूरे सीज़न में बांधे रखेंगे। सालों पहले जब विक्रम चंद्रा ने अपनी किताब सेक्रेड गेम्स लिखी होगी तब उन्होंने भी नहीं सोचा होगा कि इस पर इतनी तरतीब से और इतने बड़े पैमाने पर फिल्म भी बनेगी। हालांकि एक मजेदार बात और है जब विक्रम चंद्रा ने इस किताब को लिखा था तब हार्पर कॉलिंस प्रकाशन ने इसे पढ़कर हाथों हाथ खरीद लिया था और करोड़ों की रकम विक्रम चंद्रा को दे दी लेकिन बाद में बाजार में इस किताब की उतनी बिक्री नहीं हो पाई। लेकिन इस सीरीज के आने के बाद माना जा रहा है कि बाजार में अब इस बुक की तलाश बढ़ जाएगी।
अंत में इस सीरीज़ का ही एक और डायलॉग...सुनो ना, लाइफ बदलने वाला है तुम्हारा...'

*लेखक वरिष्ठ पत्रकार और लेखक हैं। दिल्ली में निवास।
संपर्क - 9891916471 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad